गीtaज्ञाn

श्रीभगवान अर्जुन से कहते हैं – जैसे इस देह में बाल्यावस्था, युवावस्था, वृद्धावस्था आती है वैसे ही अन्य शरीर की प्राप्ति होती है और इस विषय में धैर्यवान पुरुष मोह …

Read More